agroranto

साल में 80 हजार रूपये कमायें। कृषि सखी योजना से पूरी जानकारी यहाँ मिलेगा। krishi sakhi ka vetan kitna hai?

krishi sakhi ka vetan kitna hai :- यदि आप भी कृषि सखी हैं या कृषि सखी बनना चाहती है लेकिन समझ में नहीं आ रहा है। कृषि सखी बनने के लिए क्या करना पड़ता है। कैसे बने ,कितना वेतन होगा ,क्या -क्या काम करना होगा। तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको कृषि सखी से जुड़े सभी प्रश्नों का जवाब देंगे। अभी तक सबसे ज्यादा पूछे जाने वाला प्रश्न है कृषि सखी का वेतन। आपको सभी को इसकी जानकारी दी जायेगी। आप सभी इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें। कृषि सखी से जुड़े किसी भी सवाल के लिए निचे कमेंट करने आपके सवाल का जवाब दिया जायेगा।

साल में 80 हजार रूपये कमायें। कृषि सखी योजना से पूरी जानकारी यहाँ मिलेगा।krishi sakhi ka vetan kitna hai?

krishi sakhi ka vetan kitna hai? |कृषि सखी को कितना वेतन मिलता है?

कृषि सखी का वेतन उनके काम के अनुसार निर्धारित होता है। कृषि सखी को कई प्रकार के कामों को करना पड़ता है। सभी कामों को मिलाकर कृषि सखी की सालाना कमाई 60 हजार रूपये से लेकर 80 हजार रूपये तक हो सकती है।

कृषि सखी की सैलरी कितनी है?

krishi sakhi ka vetan kitna hai :- सरकार द्वारा कृषि सखी का कोई फिक्स सैलरी निर्धारित नहीं किया गया है। काम के अनुसार इनकी कमाई होती है। इनकी कमाई साल में 60 हजार से लेकर 80 हजार के बीच हो सकती है।

कृषि सखी का मानदेय कितना होता है?

कृषि सखी का कोई फिक्स मानदेय नहीं है। कृषि सखी के काम के अनुसार पेमेंट दिया जाता है। कृषि सखी की कमाई INR 60K से 80K के बीच हो सकती है।

ऊपर कृषि सखी के वेतन की पूरी जानकारी मिल गई है। आइये अब जानते हैं कृषि सखी के बारे में विस्तार से।

कृषि सखी योजना क्या है। कृषि सखी संचार कार्यक्रम (KSCP) क्या है?

कृषि सखी योजना के तहत स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को कृषि और कृषि से जुड़े विभिन्न प्रकार की ट्रेनिंग 56 दिनों का कराया जाता है। ट्रेनिंग के बाद इन्हें पारा एक्सटेंशन के नाम जाना जाता है। इनका काम होता है किसानों को खेती में सहायता प्रदान करना साथ ही खेती सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करना और खेती से जुड़े सरकारी योजना की जानकारी देना।

कृषि सखी संचार कार्यक्रम (KSCP)

केंद्र सरकार द्वारा लखपति दीदी योजना के जरिये 3 करोड़ महिलाओं को लखपति बनाने का निश्चय किया गया है। इस योजना को लखपति दीदी योजना नाम दिया गया है। लखपति दीदी योजना में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई प्रकार के कार्यकर्म चलाये जा रहे हैं। जिसमें कृषि सखी संचार कार्यक्रम (KSCP) के जरिये स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कृषि सखी प्रोग्राम से जोड़ना और उन्हें कृषि से जुड ट्रेनिंग करवाना।

krishi sakhi payment chart 2024

विभाजन का नामगतिविधियाँप्रति कृषि सखी/प्रति वर्ष संसाधन शुल्क
INM डिवीजन: मृदा स्वास्थ्य और MOVCDNERमृदा नमूना संग्रह, मृदा स्वास्थ्य परामर्श, किसान उत्पादक संगठन का गठन, किसानों का प्रशिक्षणमृदा स्वास्थ्य = INR 1300, MOVCDNER (केवल उत्तर-पूर्व के लिए) = INR 54000
फसल डिवीजनक्लस्टर फ्रंट लाइन प्रदर्शन, कृषि मैपर पर डेटा संग्रह और अपलोड करनाINR 10000 प्रति वर्ष
फसल बीमा डिवीजन: PMFBYगैर ऋणी किसानों को जुटाना, हानि आकलनINR 20000 प्रति कृषि प्रति वर्ष
MIDH डिवीजनबागवानी मिशन के बारे में जागरूकताINR 40000 प्रति ब्लॉक
NRM डिवीजन: वर्षा आधारित क्षेत्र विकास RAD, कृषि वनीकरण, प्रति बूंद अधिक फसलजलवायु सहिष्णु कृषि प्रथाओं का प्रशिक्षण, पौध वितरण, सूक्ष्म सिंचाई को अपनानाINR 12000 प्रति कृषि प्रति वर्ष
कृषि बुनियादी ढांचा निधिआउटरीच एजेंट, परियोजना को सुविधाजनक बनाना, जागरूकता पैदा करनाINR 5000 प्रति वर्ष
बीज डिवीजन: बीज गांव कार्यक्रमबीज उत्पादन पर किसान प्रशिक्षणप्रति प्रशिक्षण INR 900

कृषि सखी को किस प्रकार का Traninning दिया जाता है? krishi sakhi ko kis parkar ka traning diya jata hai ?

कृषि सखी प्रोगाम से जुड़ी महिलाओं को कृषि से जड़े विभिन्न प्रकार के ट्रेनिंग करवाए जाते हैं ट्रेनिंग 56 दिनों का होता है। जिसमें महिलाओं को

  • भूमि तैयारी से लेकर फसल की कटाई तक के कृषि पारिस्थितिक प्रथाएं
  • किसान फील्ड स्कूल का आयोजन
  • बीज बैंक + स्थापना और प्रबंधन
  • मिट्टी की सेहत, मिट्टी और नमी संरक्षण प्रथाएं
  • एकीकृत कृषि प्रणालियाँ
  • पशुधन प्रबंधन की बुनियादी बातें
  • जैव इनपुट की तैयारी और उपयोग तथा जैव इनपुट दुकानों की स्थापना
  • बुनियादी संचार कौशल

के विषयों पर ट्रेनिंग दिया जाता है।

Krishi Sakhis Yojana 2024 Tranning के बाद किस प्रकार का जॉब मिलेगा। Krishi Sakhis Yojana 2024 की कमाई

कृषि सखी को ट्रेनिंग के बाद सरकार द्वारा संचालित कृषि योजनाओं के कामों में जॉब दिया जायेगा। अलग-अलग कामों के लिए मानदेय भी अलग – अलग है। इसके अलावे कृषि सखी महिला को स्वयं सहायता समूह और FPO द्वारा भी जॉब दिए जायेंगे।

कौन-कौन से राज्य की महिला कृषि सखी बन सकती हैं।

कृषि सखी के लिए अभी केंद्र सरकार द्वारा 12 राज्यों का चयन किया गया है। इन राज्यों में कृषि सखी योजना के सफल होने पर इसे सभी राज्यों में चालू किया जा सकता है। कृषि सखी योजना के लिए चयनित राज्यों की सूचि निचे दिया जा रहा है।

selected states for krishi sakhi program in 2024

  • गुजरात
  • तमिलनाडु
  • उत्तर प्रदेश
  • मध्य प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • कर्नाटक
  • महाराष्ट्र
  • राजस्थान
  • ओडिशा
  • झारखंड
  • आंध्र प्रदेश
  • मेघालय

कृषि सखी में अप्लाई कैसे करें।

दोस्तों कृषि सखी में अप्लाई करने के लिए आप चयनित राज्य का निवासी होना जरुरी है। यदि आप चयनित राज्य से हैं तो आपको कृषि कार्यालय जाना होगा। वहाँ पर आपको कृषि से जुड़े स्वयं सहायता समूह से जुड़ना होगा या फिर आप अपने गाँव में चल रहे स्वयं सहायता समूह से जुड़ सकती हैं। आप कृषि कार्यालय में जाकर कृषि पदाधिकारी से भी इस योजना की जानकारी ले सकते हैं।
स्वयं सहायता समूह से जुडने के लिए आपको आवेदन देना होगा। आवेदन की प्रक्रिया अभी ऑनलाइन नहीं है। इसीलिए आपको वहाँ से आवेदन पत्र माँग कर उसे अच्छे से भर कर जमा करना होगा।

साराँश

दोस्तों उम्मीद है आप सभी को ये जानकारी पसंद आयी होगी। कृषि योजना ,खेती बाड़ी ,एग्रीकल्चर बिज़नेस की जानकारी पाने के लिए आप हम से अवश्य जुड़ें।

join channelclick here
join whatsapp groupclick here

ये भी पढ़ें

krishi sakhi ka vetan kitna hai

कृषि सखी का कोई मासिक वेतन निर्धारित नहीं है। काम के अनुसार ये साल में 60 से 80 हजार तक की कमाई कर सकती हैं।

कृषि सखी कैसे बने?

कृषि सखी बनने के लिए आप अपने गाँव या प्रखंड में चल रहे स्वयं सहायता समूह से जुड़ना होगा। एक पंचायत के लिए एक कृषि सखी बनाई जाती है।

3 thoughts on “साल में 80 हजार रूपये कमायें। कृषि सखी योजना से पूरी जानकारी यहाँ मिलेगा। krishi sakhi ka vetan kitna hai?”

  1. Pingback: ड्रैगन फ्रूट की खेती पर मिला रहा है 2 लाख की सब्सिडी | bihar dragon fruit subsidy online apply 2024 - agroranto

  2. Pingback: ड्रैगन फ्रूट की खेती पर मिला रहा है 2 लाख की सब्सिडी | bihar dragon fruit subsidy 2024 online apply - agroranto

  3. Pingback: गेंदा फूल की खेती पर मिल रहा है 70 प्रतिशत का सब्सिडी। genda phool subsidy bihar 2024 - agroranto

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top